जानिये Google Ads Manager क्या होता है? | How To Use Google Ads Manager?

Praphul Vastrakar
10 Min Read

How To Use Google Ads Manager : दोस्तों आप सभी ने Google Adsense के बारे में जरूर सुना होगा और आज के समय में इसका इस्तेमाल बहुत सारे लोग करते भी हैं, परंतु क्या आपको पता है कि Google Adsense Manager क्या होता है और इसका इस्तेमाल किस प्रकार किया जाता है। 

How To Use Google Ads Manager?

अगर नहीं तो, आपको बिल्कुल भी चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि आज के आर्टिकल में हम आपको इस बात की जानकारी देने जा रहे हैं कि Google Ads Manager क्या होता है और इसका इस्तेमाल किस तरीके से किया जा सकता है।

अगर आप पहले भी इसका इस्तेमाल कर चुके हैं तो आपको थोड़ी बहुत Knowledge होगी लेकिन अगर आप पहली बार इसका इस्तेमाल करने जा रहे हैं तब भी आपको फिक्र करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हम आपको Step By Step इसमें पूरी जानकारी देने जा रहे हैं।

इसी के साथ-साथ आपको बता दे कि पैसा कमाने के लिए यह बहुत ही अच्छा Platform है। अगर आप इसका सही से इस्तेमाल करते हैं तो इसके जरिए बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं। इसके लिए आपको बहुत सारी जानकारी की भी जरूरत होती है, इसीलिए आज हम आपको सरल भाषा में Google Ads Manager के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। 

सबसे पहले हम आपसे बात करते हैं Google Ad Manager क्या होता है, तो आपको बता दे कि यह एक Ad  Exchange  Platform होता है, जिसे 27 जून 2018 में Google के द्वारा ही Launch किया गया था, या कहे  कि  Introduce किया गया था। यह गूगल की Doubleclick For Publishers और Ad Exchange की दो पूर्ण सेवाओं को जोड़ने का काम करता है। 

Google  Ad Manager के जरिए आप Google Adsense, इसी के साथ-साथ Ad Exchange और  Ad  Mobile इत्यादि का इस्तेमाल एक साथ एक ही Platform पर कर सकते हैं। मतलब कि अगर आप अपनी Website मोबाइल एप्लीकेशन के Apps को सिंगल Platform से मैनेज करना चाहते हैं तो यह संभव है। 

इसी के साथ आपको इस बात की जानकारी भी दे दे कि इसमें दो Version Launch किए गए हैं जो की निम्नलिखित है।

●     पहला इसमें  Google Ad Manager होता है यह  Free होता है। 

●     दूसरा इसमें Google Ad Manager 360 होता है जो कि Paid होता है।

Google Ad Manager यह Online Advertisement Management सॉफ्टवेयर होता है। यह Free होता है इसमें आपको किसी भी प्रकार के पैसे नहीं देने होते हैं। यह एक छोटा बिजनेस होता है जिसे बहुत सारे लोगों को Recommend किया जाता है। इसी के साथ-साथ Google Ad Manager 360 इसका  Paid Version होता है जो बड़ा बिजनेस करने के लिए विचार करते हैं उनके लिए यह बेहतर साबित होता है। 

वहीं अगर आसान भाषा में बताया जाए तो अगर आप Blogger हैं और आप  Google Adsense Publisher है तो आप  Google Ad Manager का इस्तेमाल आराम से कर सकते हैं। 

अगर आपको इस बात की जानकारी नहीं है कि Google Ad  Manager किस प्रकार काम करता है तो आपको चिंता करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है, क्योंकि हम यहां पर आपको आसान भाषा में समझाने का प्रयत्न करेंगे। 

Google Ad Manager और  Ad  Exchange मतलब की  Ads का आदान प्रदान करना, जिसमें आप Mostly दो तरह के Ad चला सकते हैं। 

●     इसमें पहले होता है Google Adsense.

●     इसमें दूसरा तरीका होता है Third Party Network Ads. 

अगर आप Google Adsense Account को  Google Ad  Manager के द्वारा कनेक्ट कर लेते हैं तो  Adsense  Ads  Run कर सकते हैं। इसी के साथ-साथ आप अपने खुद के Ad भी Run कर सकते हैं।

इसी के साथ आपको बता दे कि अगर आप इसके लिए Google Ad Manager में जाते हैं तो वहां पर आपको  Order And Line Items का Option दिखाई देता है। आप अपने YouTube चैनल और अन्य Website या फिर किसी भी  Third Party के  Ad को आराम से चला सकते हैं।

इसका सबसे अच्छा और बेहतर  Benefit यही होता है कि आप  Adsense और  Third  Party के Ad को एक साथ भी चला सकते हैं और यह तय कर सकते हैं कि कब, कहां और कौन सा Ad दिखाना चाहिए। इसके जरिए आपकी बेहतर Earning होती है। 

सबसे पहले तो आपको बता दे कि अगर आप Google Ad Manager का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको Dashboard के  Structure और इसके सभी प्रकार के  Feature के बारे में पूरी जानकारी होना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। 

सबसे पहले तो आपको बता दे कि इसमें दो फीचर होते हैं। 

●     Delivery

●     Inventory

Inventory के बारे में जानकारी।  

Google Ad Manager का  Inventory  Section बिल्कुल ही  Adsense की तरह ही काम करता है। इसमें आपको निम्नलिखित Option देखने को मिल सकते हैं।

●     सबसे पहले यहां पर Ad Unit Create कर सकते हैं।

●     यहां पर आपको एक Apps का ऑप्शन भी दिखाई देता है जिसमें अपने Apps को Add कर सकते हैं। 

●     यहां पर एक Site का  Option दिखाई देता है जिसमें  Sites को Add किया जाता है।

●     अगर आप किसी Word को  Target करना चाहते हैं तो इसके लिए की Value Add कर सकते हैं।

●     यहां पर आपको Targeting Presents Set करने का Option भी मिलता है।

●     यहां पर Traffic Data Explore भी कर सकते हैं। 

●     अगर आप Historical Traffic Data देखना चाहते हैं तो वह भी देख सकते हैं। 

●     यहां पर सभी Inventory के लिए  Setting  Manage भी की जा सकती है। 

●     इसमें आपको Ad  Content, Competition, Inventory Exclusion के Option भी मिलते है। 

Delivery की जानकारी। 

Google Ad Manager के Delivery  Section में आपको  Own Ads और Third Party  Ads Create करने का ऑप्शन मिल जाता है।

●     सबसे पहले Add Network और उनकी  Details Enter करनी होती है। इसके बाद यह Third Party Order के हिसाब से ही होती है। अगर आपको अपने खुद के Ad Run रन करने हैं तो आप  House Ad Select कर सकते हैं।

●     इसके बाद अगर आप Line Items करना चाहते हैं तो इसके लिए Order के अंदर आपको  Line  Item  Create करना होता है, जिसमें आपको याद Size, Ad Time और Ad Targeting   Set करनी होती है।

●     Creative Option में आपको Third Party Ad Unit Create करने का  Section दिखाई देता है, जिसमें आप Script Html  Image के द्वारा Ad को Create कर सकते हैं।

●     इसके बाद Native  Option में आप  Native Ad Create कर सकते हैं।

●     Delivery Tools में आपको कुछ ऐसे Tools मिल जाते हैं जिसके जरिए आप Advertisement का निरीक्षण कर सकते हैं।

निष्कर्ष : 

दोस्तों ऊपर इस लेख में हमने आपको Google Ads Manager क्या होता है, Google Ads Manager का इस्तेमाल किस प्रकार से करें के बारे में सम्पूर्ण जानकरी दिया है। अगर आपको Google Ads Manager से सम्बंधित कोई सवाल हो तो आप हमे Comment कर के बता सकते हैं। साथ ही अगर आपको Google Ads Run करना है तो ये Platform बहुत ही अच्छा है। उम्मीद करता हूँ की आपको इस लेख से कुछ सिखने को मिला होगा। हमारा यह लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद। 

इसे भी पढ़ें।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *