UX और UI Designer क्या होता है, How To Earn Money By Becoming UI and UX Designer?

Praphul Vastrakar
11 Min Read

How To Earn Money By Becoming UI and UX Designer? : हर दिन हम कितनी ही Website को Visit करते हैं और उनमें से अपनी पसंद की ढेर सारी जानकारियां निकाल लेते हैं। इन Interesting Attractiveअ और Easy To Use Website के पीछे बहुत सारे Professionals का हाथ होता है।

जो अपनी Knowledge के बेस पर ऐसे प्लेटफॉर्म हमारे लिए तैयार करते हैं और ऐसे ही Professionals में शामिल होते हैं। UX और UI Designers, जो कि हमारे लिए Attractive Easy To Use और Accessible Website और Applications बनाते हैं।

How To Earn Money By Becoming UI and UX Designer?

अब अगर आपको भी इस तरह का Work अट्रैक्ट करता है, जिसमें रिसर्च हो, एनालिटिकल थिंकिंग हो, विजुअल Design हो, ह्यूमन कंप्यूटर इंटरैक्शन की साइकोलॉजी भी हो और मोबाइल और Website Design जैसी टेक्निकल Skills की बेसिक Knowledge भी इनक्लूड हो, तो आपके लिए UI या UX Design Career Right चॉइस हो सकता है।

इसलिए इस Career के बारे में आपको डीटेल में जरूर से जानना चाहिए। इसीलिए ही तो आज का यह लेख बनाया गया है ताकि आपको पता चल सके कि यह UI और UX Designer कौन होते हैं। क्या इनमें कोई डिफरेंस होता है? इनकी ड्यूटीज क्या होती हैं और किस तरीके से एक UX या UI Designer बना जा सकता है? इसलिए इस लेख को पूरा अंत तक जरूर पढियेगा।

UX या UI Designer क्या होता है?

तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले UX और UI Design का मतलब समझ लेते हैं। UX यानी यूजर Experience और UI यानी यूजर इंटरफेस Design। ये दो डिफरेंट फंक्शंस होते हैं, लेकिन इन दोनों का गोल होता है एक ऐसा एंड प्रोडक्ट तैयार करना जो ऑपरेट करने में आसान हो और देखने में अच्छा और Attractive भी हो।

आप इसे इस तरीके से समझ सकते हैं कि UX और UI एक ही सिक्के के दो पहलू होते हैं। इस UX और UI इंडस्ट्री में मेनली यूज होने वाले टूल्स InVision, Balsamiq, Sketch, Zeplin, Flinto, Adobe Xd, Figma, Illustrator, Photoshop और Axure है।

एक UX और UI Designer का इन Design टूल्स से फैमिलियर होना बहुत ही जरूरी होता है। UX Design का फोकस Design की यूज, एबिलिटी, Experience और फंक्शनैलिटी पर रहता है, जबकि UI Design मोस्टली एक प्रोडक्ट के विजुअल आस्पेक्ट्स पर फोकस करती है और ज्यादातर ग्राफिक्स, कलर स्कीम और क्लींजिंग इफेक्ट्स पर फोकस्ड रहती है।

तो यह मतलब हुआ UX और UI का और यह दोनों दो डिफरेंट थिंग्स होकर भी साथ में काम करती हैं ताकि Website और एप्लीकेशन को यूजर फ्रेंडली बनाया जा सके। लेकिन इनकी इतनी इम्पॉर्टेंस क्यों है?

वह इसलिए, क्योंकि इस डिजिटल वर्ल्ड में वह ब्रांड्स ही आगे बढ़ सकते हैं, जो वेब पर अवेलेबल हों और किसी भी ब्रांड को इंट्रोड्यूस करने के लिए और उसके पास ज्यादा से ज्यादा कस्टमर्स लाने के लिए एक अच्छी Website या ऐप्लिकेशन जरूरी होता है और Brands के ऐसे इंपॉर्टेंट गोल्स को पूरा करने में UX और UI Help करते हैं।

क्योंकि यह Website Design के जरिए उस Brand की फेवरेबल इमेज को प्रेजेंट करते हैं। यूजर्स को उस Website के इम्पॉर्टेन्ट सेक्शंस तक जाने के लिए डायरेक्शन देते हैं, जैसे बाय नाउ बटन का Attractive लुक और यह कंपनी के प्रोडक्ट जैसे Website और एप्लिकेशन को इतना आसान और Interesting बना देते हैं, जिससे यूजर्स इन पर बार बार आया करते हैं। और इन सब एक्शन से तो कंपनी और Brands को प्रॉफिट ही होता है। इसलिए UX और UI की इम्पॉर्टेंस भी ज्यादा ही होती है।

UX या UI Designer बनें तो आपका काम क्या होगा?

तो देखिए UX UI Designer के तौर पर Career शुरू करने का मतलब होगा बहुत सारी क्रिएटिविटी, इंटरैक्शन, Design, ग्राफिक्स, यूज एबिलिटी, वेब Design, एक्सट्रा की Knowledge और Experience रिक्वायर्ड होना। क्योंकि UX Designer अपने टारगेट यूजर्स पर रिसर्च कंडक्ट करेगा ताकि प्रोडक्ट से उनकी जरूरतों का पता चल सके।

Actual Design बनाने से पहले उसका ब्लूप्रिंट या वायर फ्रेम Design करना भी उसी का काम होगा और उसे Developers और Designers के साथ कोऑर्डिनेशन भी बनाना होगा।

वहीं UI Designer के तौर पर आप वायर फ्रेम में विजुअल Details को ऐड करेंगे, जिसमें कलर पैलेट, बटन, स्ट्राइप्स, आइकंस, बॉक्स की शेप नोटिफिकेशंस, फॉन्ट्स, एक्स्ट्रा को डिफाइन करना इनक्लूड होगा।

Developers के साथ मिलकर के इन सारी Details को Implements करना भी आपके काम का हिस्सा होगा। और अब चलिए यह भी जान लेते हैं कि UX या UI Designer बनने के लिए आपको करना क्या होगा।

UX या UI Designer बनने के लिए आपको करना क्या होगा?

तो अगर आप इस फील्ड में काफी आगे तक पहुंचना चाहते हैं यानी कि अच्छी ग्रोथ चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपके पास Design में बैचलर डिग्री यानी की बैचलर Design होनी चाहिए और वह भी UX या UI स्पेशलाइजेशन के साथ। बैचलर डिग्री कोर्स की फीस 50000 से 200000 रुपये तक हो सकती है, जो कि उस कॉलेज पर Depends करेगी, जहां से आप यह कोर्स करेंगे। बैचलर डिग्री के अलावा आप इसमें सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और मास्टर्स डिग्री कोर्स भी कर सकते हैं।

लेकिन ऐसा नहीं है कि बैचलर डिग्री के साथ ही आप इस फील्ड में एंटर हो पाएंगे, क्योंकि कई Professionals कंप्यूटर साइंस कोर्स के बाद भी इस फील्ड में काम करते हैं। हां, लेकिन अगर आपको पहले से क्लैरिटी है कि आप इसी एरिया में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो स्पेसिफिक Design फील्ड की यह डिग्री आपके सफर को काफी आसान बना सकती है।

वैसे, इस डिग्री के साथ आपको एडोबी फोटोशॉप, कोरल ड्रॉ इन Design जैसे Design सॉफ्टवेयर्स में भी प्रॉफिट शेयर। होना होगा और एचटीएमएल, एक्सएमएल, सीएसएस, जावा जैसी वेब प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की Knowledge आपके लिए काफी Helpफुल रहेगी। UX या UI Designer बनने के लिए कुछ जरूरी Skills होना भी जरूरी होगा, जैसे कि क्रिएटिविटी, कम्यूनिकेशन एंड कोलैबोरेशन, प्रॉब्लम सॉल्विंग, Familiarity विद ग्राफिक Design, प्रिंसिपल्स, वायर फ्रेमिंग Design एक्सट्रा।

इसके साथ साथ UX या UI Designer के तौर पर अपना Career शुरू करने के लिए आप अपने ब्लॉग को एक Design पोर्टफोलियो में हाइलाइट जरूर करें, ताकि आपके Work की अप्रोच क्लाइंट्स, रिक्रूटर्स और हायरिंग मैनेजर्स तक हो सके और आपका काम बहुत जल्द स्पॉटलाइट में आ सके। और आप चाहे तो ई लर्निंग के जरिए भी बहुत ही आसानी से अपनी Skills को शार्प कर सकते हैं।

इसके लिए आपको Coursera, Udemy, edX, Lynda जैसे ऑनलाइन कोर्स प्रोवाइडर्स के जरिए इस इंडस्ट्री रिलेटेड कोर्सेज को कर सकते हैं और आप इनविजन और फास्ट कंपनी जैसे बहुत सारे अवेलेबल फ्री कोर्सेज, वीडियो ट्यूटोरियल्स, आर्टिकल्स और बुक्स के जरिए भी UX और UI Design लर्न कर सकते हैं।

UI और UX Designer के लिए बेस्ट कॉलेज।

और अब बारी आती है इंडिया के ऐसे बेहतरीन कॉलेजेस के नाम जानने की जहां से आप UX और UI Design कोर्सेज कर सकते हैं।

  • एनआईडी यानी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिज़ाइन, अहमदाबाद।
  • एनआईएफटी, निफ्ट, न्यू डेल्ही।
  • इंडस्ट्रियल डिज़ाइन सेंटर, मुंबई।
  • पर्ल एकेडमी, दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु।
  • एमआईटी इंस्टीट्यूट ऑफ डिज़ाइन पूणे।
  • इंडियन स्कूल ऑफ डिज़ाइन एंड इनोवेशन, मुंबई।
  • डिपार्टमेंट ऑफ डिज़ाइन, आईआईटी गुवाहाटी।
  • जीडी गोयंका स्कूल ऑफ फैशन एंड डिज़ाइन, मुंबई।
  • डीजे अकैडमी ऑफ डिज़ाइन, तमिलनाडु।
  • श्री वेंकटेश्वर कॉलेज ऑफ फाइन आर्ट्स, हैदराबाद।
  • सर जेजे इंस्टीट्यूट ऑफ अप्लाइड आर्ट, मुंबई।

UI और UX Designer का एवरेज सैलरी।

कॉलेज के बाद UI और UX Designer को मिलने वाली एवरेज एनुअल सैलरी जानें तो यह 6,27,000 हज़ार रूपये पर एनम हुआ करती है। जो Freshers Experience बनने तक के सफर में Increase होती रहती है और Approx 4 लाख से शुरू होकर काफी आगे तक जा सकती है, जो Designer के Skills, Knowledge और Expertise पर Depends करती है।

UI और UX Designer बनने के लिए एक बेहतर टिप्स।

यहां पर आपके लिए एक Tips भी है कि अपने Work पर Feedback लेने के लिए हमेशा ओपन रहे और उससे सीखते जाइए। हो सके तो एक Design Mentors ढूंढ लीजिए, जो आपको Advice दे सके और आपका Career Build करने में आपकी Help भी कर सके। ऐसा करने से आप तेजी से इस एरिया में आगे बढ़ सकेंगे और इस तरीके से UX UI Designer बनने का आपका सफर शुरू हो जाएगा। इसलिए अपने Interest और Passion के बेस पर अपने लिए Right Career, Choose करें। 

इसे भी पढ़ें।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *